केंद्रीय मंत्री, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन, माननीय डॉ. हर्षवर्धन जी का वन अनुसन्धान संस्थान दौरा: दिनांक 23 दिसम्बर, 2017

संस्थान के बारे में

“फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट (एफआरआई), देहरादून” की जड़ें पूर्वी इंपीरियल फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट में 1906 में स्थापित की गईं ताकि देश में वानिकी अनुसंधान का आयोजन किया जा सके। इसका इतिहास न केवल भारत में बल्कि पूरे भारतीय उपमहाद्वीप में वैज्ञानिक वानिकी के विकास और विकास का पर्याय है। संस्थान ने देश में वन अधिकारी और वन रेंजर को प्रशिक्षण दिया और आजादी के बाद इसे वन अनुसंधान संस्थान और कॉलेजों के नाम से जाना जाने लगा। 1988 में एफआरआई और उसके शोध केंद्रों को भारतीय वन पर्यावरण मंत्रालय के तहत लाया गया | यह भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद्, (जो राष्ट्रीय वानिकी अनुसंधान तंत्र में एक शीर्ष संस्था है) के अंतर्गत एक प्रमुख संस्थान है। इसकी शैली ग्रीक-रोमन वास्तुकला है और इसके मुख्य भवन को राष्ट्रीय विरासत घोषित किया जा चुका है। इसका उद्घाटन 1929 में किया गया था और यह वन से संबंधित हर प्रकार के अनुसंधान के लिए विश्व  में प्रसिद्ध है।

निदेशक का संदेश

डॉ. सविता, भा.व.से.

निदेशक, वन अनुसन्धान संस्थान

और

कुलपति, वन अनुसन्धान संस्थान सम विश्वविद्यालय

 संदेश

 

 


एफ.आर.आई. समविश्वविद्यालय के 2018-2020 के एमएससी पाठ्यक्रम के लिए विज्ञापन घोषणा (uploaded on 19.01.18)

 एम.एस.सी. आवेदन पत्र :

सराहनीय कार्य हेतु पुरस्कार प्रदान करना

जे. आर. एफ. की भर्ती के लिए वॉक इन इंटरव्यू

संविदा पर चार (04 ) चिकित्सा अधिकारियो को नव वन चिकित्सालय वन अनुसंधान संस्थान में नियुक्ति

उत्तराखंड राज्य में (सीएएमपीए) के तहत उठाए गए वृक्षारोपणों की निगरानी और मूल्यांकन के प्रोजेक्ट के तहत विशेषज्ञों की सहभागिता

वर्ष 2016-2017 के लिए एपीएआर / एडब्ल्यूआर का प्रस्तुतीकरण-संबंधित

सलाहकार-क्षमता निर्माण विशेषज्ञ


नव वर्ष के उत्सव के सम्बन्ध में जानकारी


23 दिसंबर, 2017 को केंद्रीय मंत्री, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन, माननीय डॉ. हर्षवर्धन जी का वन अनुसन्धान संस्थान दौरा ।


आई.सी.एफ.आर.ई. के संस्थानों के तहत कार्यरत अनुसंधान केंद्रों के प्रमुखों के नामों का पुन: नामकरण ।


एफआरआई, देहरादून में सीधी नीलामी के माध्यम से चंदन की बिक्री (29-11-2017 को अपलोड किया गया)


एफआरआई (सम) विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह 04.10.2017 (03-10-2017 को अपलोड किया गया)


2-अक्टूबर -2017 गांधी जयंती (27-09-2017 को अपलोड किया गया)


हिंदी सप्ताह 2017 का समापन समारोह (20-09-2017 को अपलोड किया गया)


वानिकी सम्बन्धी फ़ोन सहायता
एफआईआई में 71 वें स्वतंत्रता दिवस, 2017 का उत्सव।


 
17 जुलाई 2017 को आईडब्ल्यूएसटी बैंगलोर में आयोजित क्षेत्रीय शोध सम्मेलन


एफआईआई में समाचार क्लिपिंग वान महोत्सव (14-07-2017 को अपलोड किया गया)


 जीएसटी संबंधित मेमो(14-07-2017 को अपलोड किया गया)


एफआरआई में 22.06.2017 को आयोजित हाउस आवंटन समिति की बैठक की बैठक के लिए परिपत्र (14-07-2017 को अपलोड किया गया)
खाद्य और औषधीय मशरूम की खेती पर प्रशिक्षण कार्यक्रम।

सूचना प्रौद्योगिकी सैल, वन अनुसन्धान संस्थान दिनाँक 30 नवंबर, 2017 को एक ” हिंदी में यूनिकोड टाइपिंग सम्बन्धी प्रशिक्षण” कार्यक्रम आयोजित कर रहा है|

वन अनुसंधान संस्थान, देहरादून को 6 से 7 नवंबर, 2017 को उत्तराखंड के सबावाला गांव में पॉप्लर उत्पादकों के लाभ के लिए दो दिन का प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया गया।

एम.ओ.ई.एफ. और सी.सी. नई दिल्ली के प्रायोजन के तहत “तकनीकी विकास पर जागरूकता उत्पादन” पर प्रशिक्षण [24 से 26 अक्टूबर, 2017]

वर्ष 2017 के लिए एफआरआई प्रशिक्षण कैलेंडर

घटनाक्रम और गतिविधियों

मुख्य परियोजनाएं और डेटा पोर्टल

icon-1white
icon-3white
icon-hindi1
icon-hindi2
राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व के संगठन

 डॉ. सविता, निदेशक, एफ.आर.आई. कॉप 23 , बॉन (जर्मनी)
  में एक प्रस्तुति देती हुयी |

  डॉ. सविता, निदेशक, एफ.आर.आई., "डीम्ड विश्वविद्यालय,
  एफ.आर.आई. दीक्षांत समारोह-2017"के दौरान द्वीप प्रज्वलित 
  करती हुयी |

भारत सरकार पोर्टल और संसाधन

विविध

कार्यालय समय

सामान्य कार्य समय-

09:00 hrs से 17:30 hrs (सोमवार से शुक्रवार )

 

मध्यान्ह भोजन समय-

13:00 hrs से 13:30 hrs

हमसे संपर्क करें

वन अनुसंधान संस्थान देहरादून
उत्तराखंड, भारत – 248001
फोन: +91 135275267
फैक्स: + 91-2756865
वेब प्रबंधक: नीलेश यादव, वैज्ञानिक-डी और अधिकारी प्रभारी, आईटी सेल
ई-मेल: fri.dehradun.india@gmail.com

हम तक कैसे पहुंचे

© सभी अधिकार सुरक्षित वन अनुसंधान संस्थान देहरादून
X